जम्‍मू कश्‍मीर: एलओसी से सटे कई इलाकों में भीषण हिमस्खलन, 4 जवान लापता | many jawans of Indian Army missing after avalanche hits North Kashmir

News


India

oi-Rahul Kumar

|

श्रीनगर। उत्तरी कश्मीर के दो इलाकों में मंगलवार को हुए हिमस्खलन में कई जवान के लापता होने की खबर है। हिमस्खलन की ये घटनाएं कुपवाड़ा और बांदीपोरा जिलों में हुईं हैं। लापता जवानों की तलाश में सेना की एआरटी को लगाया गया है। मीडिया रिपोर्टेस के मुताबिक, एक जवान शहीद हो गया। तीन जवान लापता हैं, जबकि चार को सुरक्षित निकाल कर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। लापता जवानों की तलाश में व्यापक पैमाने पर सर्च ऑपरेशन चलाया गया है।

many jawans of Indian Army missing after avalanche hits North Kashmir

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मंगलवार को हिमस्खलन की दो घटनाएं बांदीपोरा के गुरेज सेक्टर और कुपवाड़ा जिले के करनाह सेक्टर में हुई हैं। यह दोनों इलाके उत्तरी कश्मीर के अंतर्गत आते हैं। 18 हजार फीट से अधिक की ऊंचाई पर हुए हिमस्खलन में 4 जवानों के लापता होने की बात कही जा रही है। जवानों की तलाश के लिए सेना ने ऐवलॉन्च रेस्क्यू टीम और सेना के हेलिकॉप्टरों को लगाया है। हालांकि अब तक सेना ने इस पूरे ऑपरेशन के बारे में कोई बयान जारी नहीं किया है।

एसएसपी श्रीराम दिनकर ने बताया कि चार जवान हिमस्खलन में दब गए थे। एक जवान का शव बरामद कर लिया गया है। एक को सुरक्षित निकालकर अस्पताल भेजा गया है, जबकि एक जवान अब भी लापता है। हिमस्खलन की सूचना मिलने के बाद सेना ने बचाव अभियान के लिए बचाव दल और खोज दलों को तैनात कर दिया है। लापता जवानों को खोजने के लिए सेना के हेलीकॉप्टरों को भी तैनात किया गया है।

इससे पहले, 30 नवंबर को दक्षिणी सियाचिन ग्लेशियर में लगभग 18,000 फीट की ऊंचाई पर स्थित सेना का गश्ती दल शनिवार को हिमस्खलन की चपेट में आ गया था। इसमें सेना के दो जवान शहीद हो गए थे। वहीं नवंबर के ही महीने में सियाचिन ग्लेशियर में आए हिमस्खलन में चार जवान शहीद हो गए थे। दो पोर्टरों की भी मौत हुई थी। बाद में हुई अन्य घटना में दो सैनिक शहीद हो गए थे।

क्या ठाकरे सरकार में अजित डिप्टी सीएम बनेंगे या नहीं?, शरद पवार ने दिया ये जवाब

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें – निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *